Helping Poor People Essay in Hindi

Helping Poor People Essay in Hindi | गरीब लोगों की मदद पर निबंध

Helping Poor People Essay in Hindi


    किसी भी देश में निवास करने वाले प्रत्येक व्यक्ति को खुशहाल जीवन जीने का अधिकार है। लेकिन मनुष्य का जीवन विभिन्न वर्ग व श्रेणियों में विभाजित हो चुका है जिस वजह से अमीर लोग और भी ज्यादा अमीर हो रहे हैं, वहीं गरीब लोग एक वक्त की रोटी के लिए भी तरस रहे हैं। यह स्थिति काफी ज्यादा चिंताजनक है क्योंकि हमारे समाज में रहने वाले कई लोग गरीब, अशिक्षित तथा बेघर है।

    ऐसे में गरीब लोगों की मदद करना काफी जरूरी होता है। हम अपनी मदद से उन लोगों को अमीर तो नहीं बना सकते लेकिन कम से कम हम उन्हें समृद्ध जीवन जीने में मदद कर सकते हैं इसीलिए हम इस पोस्ट के जरिए आपको गरीब लोगों की मदद करने पर एक निबंध प्रस्तुत कर रहे हैं।

    भूमिका

    गरीब लोगों से तात्पर्य उन लोगों से है जो जीवन की मूलभूत जरूरतों से वंचित हैं। इन लोगों के पास पर्याप्त कपड़े, भोजन, स्वास्थ्य सुविधाओं तथा शिक्षा का अभाव है। यह लोग राजनीतिक, आर्थिक व सामाजिक रूप से वंचित है। शोधो में यह पता चला है कि भारत की आधी से ज्यादा आबादी को बिना भोजन के ही सोना पड़ता है। साल दर साल अमीर और गरीब के बीच की खाई चौड़ी होती जा रही है।

    इस खाई को कम करने के लिए गरीब लोगों की स्थिति में सुधार करना जरूरी है। गरीब और जरूरतमंद लोगों की मदद करना एक नेक काम माना जाता है। उनकी मदद के जरिए हम उन्हें जीवन में कुछ अवसर प्रदान कर सकेंगे जिससे भविष्य में उनके जीवन में दीर्घकालीन सुधार दिखेगा।

    गरीबों की मदद करना क्यों जरूरी है

    Helping Poor People Essay in Hindi


    1. मन की शांति के लिए

    हम सभी इस बात से वाकिफ हैं कि हम इस धरती पर हमेशा के लिए नहीं रह सकते। एक समय आएगा जब हमें अपनी सभी विलासिता की वस्तुओं को छोड़कर वापस उसी ब्रह्मांड में लौट जाना है, जहां से हम आए हैं। लेकिन जाने से पहले क्यों ना ऐसा कोई कार्य किया जाए जिससे हमें मन की शांति हो। आज दुनिया में कई ऐसे लोग हैं जिनके पास खाने के लिए खाना नहीं, पहनने के लिए कपड़े नहीं है। हम उन लोगों की मदद अपने स्तर व अपनी क्षमता अनुसार कर सकते हैं। ऐसा करने से आपको अपार खुशी अनुभव होगी।

    2. जीवन के उद्देश्य

    अपने जीवन को अर्थपूर्ण बनाने के लिए हमें अपने देश तथा स्थानीय स्तर पर लोगों की मदद करनी चाहिए।

    3. फंड जुटाकर

    आप किसी ऐसे संगठन से जुड़ सकते हैं जो कि गरीब और जरूरतमंद लोगों के लिए धन जुटाने को इच्छुक हो। ऐसे में आप अलग-अलग रणनीति और योजनाएं बना सकते हैं जिसके जरिए आप समाज में जागरूकता पैदा कर फंड जुटा सकते हैं। इस फंड का इस्तेमाल गरीबों की मदद के लिए किया जाता है।

    4. मूल्यवान नागरिक

    हम जिस देश में निवास करते हैं उस देश ने हमें अब तक बहुत कुछ दिया है। ऐसे में यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम उस देश के एक मूल्यवान नागरिक बनकर उस देश के गरीबों की मदद करें।

    5. जागरूकता फैलाकर

    अगर आप सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से जुड़े हुए हैं तो आप उस प्लेटफार्म में अपने दोस्तों, मित्रों और परिवार के लोगों को गरीब लोगों के बारे में जागरूकता देकर उन्हें मदद के लिए प्रेरित कर सकते हैं।

    6. भोजन

    आप गरीब व जरूरतमंद लोगों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध करा सकते हैं जिससे उनकी भूख मिट सके और वे स्वस्थ रहें।

    7. देश के विकास के लिए

    इसके साथ ही दुनियाभर के लाखों संगठन और सरकारें गरीबी की समस्या को हल करने की कोशिश में लगे हुए हैं, पर इस कारण कई लोग यह समझते हैं कि गरीबों की मदद करना सिर्फ सरकार की जिम्मेदारी है। लेकिन बदलाव तभी आएगा जब प्रत्येक व्यक्ति अपनी क्षमताओं के अनुसार इस समस्या से निपटने में अपना योगदान देगा। 

    गरीबों की मदद करने के लिए कोई भी स्वेच्छा से अपना योगदान दे सकता है। ऐसा नहीं है कि किसी भी व्यक्ति को पूरे वर्ष हर दिन ही गरीबों की मदद करनी है, बल्कि यह कार्य कभी भी किया जा सकता है। आप बेघरों के लिए आश्रय बनाने, उन्हें भोजन व शिक्षा देने जैसे कई कार्य कर उनके मदद कर सकते हैं। लोगों के छोटे-छोटे प्रयास समाज में कई बड़े बदलाव ला सकते हैं। 

    और अंत में जीवन ज्यादा सार्थक तभी माना जाता है, जब हम अपने लिए नहीं बल्कि दूसरों के लिए जीते है।

    हम गरीब लोगों की मदद कैसे कर सकते हैं?

    भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया भर में असमानता मौजूद है। कुछ लोग बेहद अमीर है तो कुछ लोग सबसे गरीब। इस अंतर को कम करने के लिए सरकार और विभिन्न संगठन कई कोशिशें कर रहे हैं। हालांकि यह समस्या तब तक नहीं सुलझ सकती जब तक आप इसमें अपना योगदान नहीं देते हैं।

    Helping Poor People Essay in Hindi


    1. नैतिक समर्थन

    गरीब और जरूरतमंद लोगों की ओर हाथ बढ़ाकर तथा उन्हें नैतिक समर्थन प्रदान करके हम उनकी मदद कर सकते हैं। इसके लिए आप गरीब लोगों के साथ मिलकर उनकी क्षमताओं को पहचानने में उनकी मदद कर सकते हैं। साथ ही उन्हें बेहतर अवसर उपलब्ध करा सकते हैं।

    2. वित्तीय सहायता

    अगर आपकी आर्थिक स्थिति अच्छी है तो आप दान देकर गरीब लोगों की मदद कर सकते हैं। इसके लिए आप सड़क पर रहने वाले लोगों या फिर किसी ऐसे संगठनों को दान दे सकते हैं जो कि गरीबों के लिए कार्य करता हो।

    3. शिक्षा के ज़रिए

    वर्तमान समय में शिक्षा काफी ज्यादा जरूरी है क्योंकि शिक्षा के जरिए ही व्यक्ति को अच्छा रोजगार हासिल होता है जिससे वे अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत कर पाता है। लेकिन हमारे आसपास कई गरीब लोग ऐसे हैं जो अपने बच्चों को शिक्षित तो करना चाहते हैं लेकिन उन्हें शिक्षा देने के लिए उनके पास पैसे नहीं है। इस स्थिति में आप गरीब लोगों को शिक्षित करके उनकी मदद कर सकते हैं।

    4. विभिन्न संगठनों में योगदान

    गरीबों की मदद करने के लिए सरकार और कई गैर सरकारी संगठन कार्यरत है जो कि गरीब लोगों को आश्रय देने, उनकी भूख मिटाने और उनकी सारी जरूरतों को पूरा करने का प्रयास कर रहे हैं। लेकिन इन संगठनों को भारी मात्रा में पैसों की जरूरत होती है। ऐसे में आप अपनी तरफ से इस तरह के संगठन में कुछ योगदान देकर भी गरीबों की मदद कर सकते हैं।

    5. चिकित्सीय सहायता

    असल में गरीबों की मदद करने के लिए कई तरीके और साधन उपलब्ध है। आपके पास उनकी मदद करने के लिए सिर्फ एक दयालु दिल और मदद करने की इच्छा होनी चाहिए।

    6. दान

    हम जरूरतमंद लोगों को अपना पुराना सामान जैसे फर्नीचर, कपड़े, उपकरण दान कर सकते हैं जिससे गरीब लोगों को जिन चीजों की जरूरत होगी वह हासिल कर सकते हैं। मुख्यतः सर्दी के मौसम में गरीब लोगों को गर्म कपड़े दान किए जाने चाहिए।

    निष्कर्ष

    इस धरती पर रहने वाले प्रत्येक व्यक्ति को समृद्ध और खुशहाल जीवन जीने का पूरा अधिकार है। लेकिन कई लोग समाज से दरकिनार कर दिए गए हैं तथा उनके पास बुनियादी आवश्यकताओं की वस्तुओं तक का अभाव है।

    गरीब लोगों को कई बार हाशिए के समाज में सम्मिलित किया जाता है हाशिए के समाज का मतलब है वह समाज जिसे हाशिए पर रख दिया गया है। ऐसे में प्रत्येक व्यक्ति को दूसरों की मदद करने के लिए अपनी भागीदारी सुनिश्चित करनी चाहिए जिससे वह समाज के मूल्यवान सदस्य बन सकेंगे।

    एक टिप्पणी भेजें

    0 टिप्पणियाँ