Dog is a Faithful Animal Essay

Dog is a Faithful Animal Essay | कुत्ता एक वफादार जानवर पर निबंध

Dog is a Faithful Animal Essay


    पृथ्वी पर मनुष्य के अलावा कई पशु-पक्षी, जीव-जंतु निवास करते हैं। हालांकि मनुष्य की कुछ विशेषताओं की वजह से इसे सबसे ताकतवर प्राणी कहा जाता है क्योंकि यह अन्य प्राणियों को नियंत्रित कर सकता है।

    मनुष्य खतरनाक से खतरनाक जानवरों को अपने वश में कर सकता है। कई लोग शेर, चीता, कोबरा जैसे खतरनाक और जानलेवा जानवरों को भी अपने प्रेम से वश में कर लेते हैं। क्योंकि सभी जीव-जंतु बस एक ही भाषा समझते हैं, वह प्यार की भाषा। प्यार के जरिए हम किसी भी घातक से घातक जीव को अपने वश में कर सकते हैं।

    कुत्तों की वफादारी का कोई पैमाना नहीं होता। कुछ समय पहले मैंने किसी समाचार पत्र में एक समाचार पढ़ा और समाचार को पढ़कर मेरी आंखें भर आई। उस समाचार में बताया गया था कि एक महिला सड़क पर रहने वाले कुत्ते की हमेशा देखभाल किया करती थी। लेकिन कोरोना की वजह से उस महिला की मृत्यु हो गई।

    जब उस महिला के शव को घर लाया गया तो वह कुत्ता शव के साथ ही बैठा रहा और अंत में जब महिला के शव को जला दिया गया, तो वह उसी श्मशान घाट में कुत्ता चार-पांच दिन तक भूखा प्यासा बैठा रहा। वहां लोगों ने कुत्ते को खाना खिलाने कि बहुत कोशिश की लेकिन उसने कुछ नहीं खाया।

    जब लोगों ने उस महिला के परिजनों को बताया की करीब 1 हफ्ते से वह कुत्ता उसी चीता के आगे भूखा प्यासा बैठा हुआ है, तो तुरंत उस महिला के परिवार वाले उस जगह पहुंचे लेकिन भूख और प्यास की वजह से वह कुत्ता उसी जगह अपनी आखिरी सांसे ले रहा था। 

    इस कहानी से हमें पता चलता है कि कुत्ते कितने वफादार होते हैं। यदि कोई उन्हें प्यार जताता है तो वे उस प्यार को कभी नहीं भूलते। और अपनी आखिरी सांस तक हमेशा उसके प्रति वफादारी रखते हैं।

    भूमिका

    आपने देखा होगा कि आजकल प्रत्येक घर में पालतू जानवर के तौर पर कुत्ते को जरूर रखा जाता है। आखिर अन्य जानवरों की तुलना में कुत्ते को ही ज्यादातर लोग पालतू क्यों बनाते हैं?

    इसके पीछे कि वजह यह है कि कुत्ते को सबसे वफादार जानवर माना जाता है। यह मनुष्य के सबसे अच्छे दोस्त भी कहलाते हैं। आजकल तो हर घर में आपको पालतू कुत्ता देखने को मिल जाएगा। कुत्ते आसानी से नियंत्रित हो जाते हैं। साथ ही यह मनुष्य के लिए काफी मददगार साबित होते हैं। कुत्तों को सबसे चतुर जानवर भी कहा जाता है। वहीं यह अपने मालिक के प्रति हमेशा वफादार रहते हैं।

    कुत्तों के बारे में जानकारी

    कुत्ता एक स्तनधारी जानवर होता है। कुत्तों को नियंत्रित और प्रशिक्षित करना आसान होता है। कई कुत्ते जंगलों में रहते हैं इसीलिए उन्हें नियंत्रित करना मुश्किल होता है। असल में कुत्ते भेड़ियों की नस्ल के होते हैं। कुत्तों में मादा को कुत्तिया और उनके शावक को पिल्ला कहा जाता है। कुत्तों में यौन परिपक्वता 6 महीने से 1 वर्ष की होती है। लेकिन कुत्तों की बड़ी नस्लों में यह 2 साल की भी हो सकती है।

    इनका जीवनकाल 12 वर्ष का होता है। लेकिन सड़क पर रहने वाले कई कुत्ते 12 वर्ष की आयु तक पहुंचने से पहले ही कई बीमारियों के और सड़क दुर्घटना के शिकार हो जाते हैं। इस वजह से वह अपनी लंबी आयु नहीं जी पाते। वहीं कई कुत्ते 12 वर्ष से भी अधिक आयु तक जीवित रह सकते हैं। यह इस बात पर निर्भर करता है कि वह किस वातावरण और परिवेश में निवास कर रहे हैं। कुत्ते सर्वाहारी होते हैं। वे हर तरह के खाद्य पदार्थों का सेवन करते है।

    कुत्तों को पालतू बनाने के पीछे का इतिहास

    कुत्ते भी अन्य जानवरों की तरह ही जंगलों में निवास करते आए हैं। हालांकि कहा जाता है कि सबसे पहले पश्चिम यूरोप में भेड़ियों को पालतू बनाने की प्रथा शुरू हुई थी। लेकिन इस बात का कोई प्रमाण मौजूद नहीं है। 

    कहा जाता है कि जब मानव शिकारी हुआ करते थे तब वह भेड़ियों या प्रारंभिक कुत्तों को शिकार के लिए अपने साथ ले जाया करते थे। क्योंकि शिकार के दौरान कुत्ते उन्हें सहायता प्रदान करते थे। इसके अलावा शिकार से बचा-कुचा खाना वे इन्हें खिलाया करते थे।

    Dog is a Faithful Animal Essay



    कुत्तों की नस्लें

    पूरी दुनिया भर में कुत्तों की 450 से ज्यादा मान्यता प्राप्त नस्लें पाई जाती हैं। कुत्तों की इन सभी नस्लों के बारे में बताना संभव नहीं है। इसलिए हम कुत्तों की नस्लों के वर्गीकरण के आधार पर आपको बताएंगे कि कुत्तों की नस्लों का वर्गीकरण किस तरह से किया जाता है।

    साथी कुत्ते (Companion Dogs)

    इस तरह के कुत्ते को किसी विशेष कार्य के लिए नहीं बल्कि इन्हें सिर्फ साथ देने के लिए पाला जाता है।

    रक्षक कुत्ते (Guard Dogs)

    इस तरह के कुत्तों को मुख्यतः सुरक्षा के लिए, किसी खतरे के खिलाफ लोगों को सचेत करने और जानमाल की रक्षा के लिए पाला जाता है। इन कुत्तों को प्रशिक्षित किया जाता है जिससे यह अजनबी और जानकार लोगों में फर्क कर सकें। वैसे तो किसी भी नस्ल के कुत्ते को रक्षक कुत्तों के तौर पर पाला जा सकता है। हालांकि कुत्तों की कुछ खास नस्लों को ही रक्षक कुत्तों के रूप में पाला जाता है।

    शिकारी कुत्ते

    इस तरह के कुत्तों की नस्लें इंसानों को शिकार करने और शिकार से संबंधित जानकारी देने में मदद करते हैं। शिकारी कुत्तों कि भी कई विशेष नस्लें पाई जाती हैं जो कि सूंघने, देखने, इशारा करने तथा पकड़ने की योग्यताएं रखते हैं। यह सभी योग्यताएं शिकार करने में मदद करती हैं।

    चरवाहे कुत्ते

    इस तरह के कुत्ते पशु चारण में काफी ज्यादा मदद करते हैं क्योंकि उन्हें कई तरह से प्रशिक्षित किया जाता है। इस तरह के कुत्ते पशुओं को इकट्ठा करने, उन्हें चराने में काफी मदद करते हैं।

    स्लेज डॉग (Sled Dogs)

    बर्फीले स्थानों में इस तरह के कुत्तों को पाला जाता है। इन्हें बर्फीली जगह पर चलने वाली लकड़ी से बनी एक गाड़ी खींचने के लिए विशेष तौर पर प्रशिक्षित किया जाता है।

    यह थे कुत्तों की नस्लों के कुछ वर्गीकरण। इसके अलावा भी कुत्तों कि कई नस्लें पाई जाती है। वहीं इनका वर्गीकरण भी कई अलग-अलग आधारों पर किया जाता है। जैसे कि विलुप्त हो चुके कुत्तों की नस्लें, लोकप्रिय कुत्तों की नस्लें, पुलिस कुत्तों की नस्लें, लड़ाकू कुत्तों की नस्लें आदि।

    भारत में पसंद किए जाने वाले पालतू कुत्तों की सूची

    विदेशों की तरह भारत में भी बहुत से लोग कुत्तों को पालने के शौकीन होते हैं। भारत में ही कुत्तों की कई नस्लें पाई जाती है। हालांकि भारत में विदेशों के कुछ कुत्ते काफी ज्यादा लोकप्रिय है। हम आपको बताएंगे कि वे कौन से कुत्ते हैं जिन्हें भारत में काफी ज्यादा पसंद किया जाता है।

    लैब्राडॉर

    लैबराडॉर कुत्ते की नस्ल को भारत में काफी ज्यादा पसंद किया जाता है। इस नस्ल के कुत्ते बहुत ही शांत स्वभाव के और दिखने में प्यारे लगते हैं। साथ ही इन कुत्तों को पुलिस और सेना में भी इस्तेमाल किया जाता है।

    बीगल्स

    बीगल्स, सूंघने की जबर्दस्त क्षमता रखता है। इसके अलावा यह कुत्ता काफी ज्यादा बुद्धिमान भी होता है। यह दूसरों के साथ जल्दी घुल मिल जाते हैं। इसके अलावा इन कुत्तों का इस्तेमाल एयरपोर्ट ने स्निफ डॉग के तौर पर भी किया जाता है।

    गोल्डन रिट्रीवर्स

    यह कुत्ते छोटे बच्चों को काफी ज्यादा पसंद करते हैं। इसके अलावा यह खेलकूद में माहिर होने के साथ ही अपने मालिक के साथ घूमना-फिरना भी काफी पसंद करते हैं।

    जर्मन शेफर्ड

    जर्मन शेफर्ड को सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया भर में काफी ज्यादा पसंद किया जाता है। इस नस्ल के कुत्ते काफी ज्यादा वफादार और हिम्मत वाले होते हैं। इन कुत्तों का दिमाग भी काफी तेज होता है। वही शरीर से यह काफी ज्यादा ताकतवर होते हैं।

    मालटीज़

    इस तरह के कुत्ते आकार में काफी ज्यादा छोटे होते हैं, यही वजह है कि यह घर की रखवाली के लिए नहीं बल्कि खेलने के लिए पाले जाते हैं। इन कुत्तों के बाल भी काफी ज्यादा मुलायम होते हैं।

    एक टिप्पणी भेजें

    0 टिप्पणियाँ