Essay On Importance of Festivals

Essay On Importance of Festivals | त्योहारों के महत्व पर निबंध

Essay On Importance of Festivals


    भारत विभिन्न धर्म, जाति, समुदाय व विविधताओं से भरा हुआ देश है। इस देश में अलग-अलग धर्म, जाति के लोग निवास करते है जिस वजह से यहां कई त्यौहार मनाए जाते हैं। यही वजह है कि कई बार भारत को त्योहारों का देश भी कहा जाता है। यहां साल में न जाने कितने ही त्यौहार मनाए जाते हैं। इन त्योहारों का लोगों के जीवन में अपना-अपना महत्व है। त्योहारों के इसी महत्व को हम आज के इस आर्टिकल के माध्यम से जानेंगे।

    भूमिका

    त्यौहार कुछ और नहीं बल्कि इतिहास में घटित घटनाएं हैं जिनमें कुछ अच्छी तथा कुछ बुरी घटनाएं शामिल है। इन्हीं घटनाओं को परिवर्तित करके वर्तमान समय में त्योहारों के रूप में मनाया जाता है। कुछ त्यौहार ऐसे हैं जो काफी प्राचीन समय से चले आ रहे हैं, वहीं कुछ त्यौहार ऐसे हैं जिन्हें लोगों ने कुछ समय पहले ही बनाया है। 

    त्योहारों का हमारे जीवन में काफी महत्व होता है। इसका सबसे बड़ा महत्व यह है कि भारत व विश्व भर में रहने वाले विभिन्न जाति, धर्म, जन समुदाय के लोग अपने-अपने त्यौहार मनाते हैं। लेकिन इन त्योहारों में एक चीज समान होती है, वह है लोगों का सामाजिक जुड़ाव। इसके साथ ही त्योहारों को मनाने से लोगों को प्रसन्नता और खुशी की अनुभूति होती हैं।

    त्यौहार क्यों जरूरी है?

    त्यौहार जब भी आते हैं, तब लोगों के बीच खुशियां लेकर आते हैं। त्यौहारों को मनाने के दौरान लोग अपने गिले-शिकवे, दुख-दर्द भूल जाते हैं। हमारी व्यस्तता से भरे हुए जीवन में त्यौहार नई उमंग लेकर आते हैं। इसके साथ ही अगर आप थोड़ा गौर फरमाएं तो आपको पता चलेगा कि हर त्यौहार के साथ कोई ना कोई विशेष संदेश अवश्य जुड़ा होता है। 

    कुछ त्यौहार बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक होते हैं तो कुछ त्यौहार बुराई को मिटाने और लोगों में सकारात्मकता भरने की कोशिश करते हैं। त्यौहार ही राष्ट्र और समाज के प्रति लोगों में समर्पण का भाव जगाते हैं।

    इसके अलावा त्यौहार हमें इतिहास में घटी हुई घटनाओं के बारे में भी जानकारी देते हैं। जैसे कि दीपावली का त्यौहार वर्तमान में तो पटाखे और दीप के सहारे मनाया जाता है। लेकिन यह त्यौहार इतिहास में घटी एक विशेष घटना पर आधारित है जो कि समाज के लोगों को अब तक सीख दे रहा है।

    हमारे देश के कुछ प्रमुख त्यौहार

    Essay On Importance of Festivals


    जैसे कि हमने पहले बताया भारत विविधताओं से भरा हुआ देश है इसीलिए यहां अलग-अलग जाति, धर्म, जनसमुदाय, पंथ के लोग निवास करते हैं। इन सभी लोगों के अपनी-अपनी कुछ मान्यताएं होती है और इन्हीं मान्यताओं के आधार पर यह त्यौहार मनाते हैं इसीलिए भारत में बहुत सारे त्यौहार मनाए जाते हैं। इनमें से कुछ त्यौहार समाज में सामाजिक सद्भावना फैलाते है तो कुछ के जरिए मानवीय मूल्यों को लोगों तक पहुंचाया जाता है। त्योहारों को हम दो भागों में बांट सकते हैं। आइए जानते हैं इन्हें:-

    1. धार्मिक त्यौहार

    वे त्यौहार जो कि लोगों की धार्मिक आस्थाओं के आधार पर मनाए जाते हैं, उन्हें धार्मिक त्यौहार कहते हैं। इन त्योहारों में नागपंचमी, दीपावली, ईद, गुरुपर्व, मुहर्रम, जन्माष्टमी, रक्षाबंधन, भैया दूज, दशहरा, होली आदि शामिल है।

    2. राष्ट्रीय त्यौहार

    वे त्यौहार जो किसी राष्ट्र में लोगों का आपस में जोड़ते हैं, उन्हें राष्ट्रीय त्यौहार कहा जाता है। राष्ट्रीय त्यौहार उस देश के नागरिकों को उस राष्ट्र के इतिहास और महत्वपूर्ण क्षणों के बारे में बताते हैं। अलग-अलग देशों में राष्ट्रीय त्यौहार अलग-अलग होते हैं। भारत में मनाएं जाने वाले राष्ट्रीय त्योहारों में स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस, गांधी जयंती, शिक्षक दिवस आदि प्रमुख है।

    3. मौसमी त्यौहार 

    भारत में कई ऐसे त्यौहार है जो मौसम के अनुसार मनाए जाते हैं। इस तरह के त्यौहार को मौसमी त्यौहार कहते हैं। जैसे कि कुछ त्यौहार खाद्य की आपूर्ति से संबंधित होते हैं तो कुछ त्यौहार बारिश के लिए मनाए जाते हैं। इन्हीं में से कुछ त्योहारों के नाम बसंत पंचमी, खिचड़ी आदि है।

    त्यौहार एकता का प्रतीक है

    त्यौहार ना सिर्फ खुशियां लेकर आते हैं बल्कि यह लोगों को एक सूत्र में बांधते हैं तथा उनमें एकता लेकर आते हैं। जब देश के लोगों की एकता मजबूत होती है तो उस देश को आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। भारत में कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक हजारों त्यौहार मनाए जाते हैं। 

    कहा जाता है कि कोई भी विशेष त्यौहार किसी जाति, समुदाय या धार्मिक आधार पर भिन्न हो सकता है। लेकिन भारत में विभिन्न धर्मों के लोग आपसी मेलजोल के साथ अलग-अलग त्योहारों को खुशी के साथ मनाते हैं। जैसे कि भारत में दीपावली का त्यौहार हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई हर धर्म के लोग खुशी के साथ मनाते हैं। वही ईद के त्योहार में भी हिंदू-मुस्लिम आपस में गले मिलकर एक दूसरे को बधाई देते हैं। इसी तरह भारत में क्रिसमस का त्यौहार भी कई धार्मिक समुदायों द्वारा मनाया जाता है।

    त्योहारों के कुछ प्रमुख महत्व

    वैसे तो हर त्यौहार का अपना-अपना महत्व होता है इसीलिए हम यह नहीं कह सकते कि कोई त्यौहार गैर जरूरी है। आइए जानते हैं त्योहारों के प्रमुख महत्व क्या है:-

    Essay On Importance of Festivals


    1. पारिवारिक संबंधों को मजबूत करता हैं

    किसी भी त्यौहार और विशेष अवसर में परिवार के सभी सदस्य आपस में मिलकर उस त्यौहार को मनाते हैं। त्योहारों के दिन घर के लोग आपस में मिलजुल कर काम करते हैं। जो उनके संबंधों को मजबूत बनाता है। त्योहारों में कई तरह के व्यंजन तैयार किए जाते हैं तथा घर के सदस्यों को उपहार दिए जाते हैं। इससे परिवारिक संबंधों को मजबूती मिलती है।

    2. खुशियों का प्रतीक

    त्योहारों का मतलब उपहार देना और खुशियां बांटना भी हैं। त्योहारों के दौरान लोग आपस में उपहारों का आदान-प्रदान करते हैं। वे उपहारों के रूप में खुशियों का भी आदान-प्रदान करते हैं। इस दिन सभी रिश्तेदार और मित्र आपस में मिलकर खुशी-खुशी त्यौहारों को मनाते हैं।

    3. अपनी संस्कृति को समझना

    त्यौहार किसी भी संस्कृति को समझने का मौका देते हैं। घर के छोटे बच्चे अपने देश की संस्कृति से रूबरू होते हैं। इसके अलावा त्यौहार किसी भी देश की संस्कृति और उसकी परंपराओं को अगली पीढ़ी तक ले जाने में मदद करते हैं।

    4. अपने पूर्वजों को याद करना

    त्योहारों के दौरान लोग पौराणिक कथाओं के बारे में जानते हैं तथा उस त्योहार से जुड़े अपने पूर्वजों को याद करते हैं।

    5. सामाजिक मेलजोल को बढ़ाते हैं

    त्यौहार हमें एक-दूसरे से जुड़ने का मौका देते हैं। त्योहारों के दिन हम अजनबियों को भी दोस्त बना लेते हैं। त्योहारों में लोग आपस में भाईचारा और विश्वास का संचार करते हैं।

    6. त्यौहार अर्थव्यवस्था को मजबूत करते हैं

    त्योहारों के दौरान लोगों को रोजगार के अवसर मिलते हैं। विभिन्न त्योहारों में लोग सबसे ज्यादा खरीदारी करते हैं। वही दुकानों में भी भारी छूट प्रदान की जाती है जिससे खरीदारी को प्रेरित किया जा सके। इसके अलावा दीपावली के दौरान कई लोग दिये व पटाखे आदि बेचकर आमदनी कमाते हैं। इस तरह त्यौहार अर्थव्यवस्था को भी मजबूती प्रदान करता है।

    7. मनुष्य को प्रकृति का महत्व समझाना

    त्यौहार मनुष्य और प्रकृति के बीच तालमेल बनाते हैं। साथ ही उनके संबंधों को मजबूत करते हैं। बहुत से त्योहारों में प्रकृति कि पूजा की जाती है जिससे लोगों को प्रकृति के महत्व को बताया जाता है।

    8. गरीबों की मदद

    त्योहारों के दौरान कई लोग दान-दक्षिणा हैं। इसके अलावा गरीबों को खाना खिलाना, उन्हें भिक्षा देना जैसे कई पुण्य काम करते हैं।

    उपसंहार

    इस तरह हम कह सकते हैं कि किसी भी देश और समाज के लोगों के बीच त्योहारों का बहुत महत्व होता है इसीलिए त्यौहारों को बेकार चीज ना समझ कर अगर इसे पूरे मन से मनाया जाए तो यह त्यौहार खुशियां और आनंद लेकर आता है। भारत में मनाए जाने वाले सभी त्यौहार देश को एक सूत्र में बांध कर रखते हैं। साथ ही राष्ट्रीय एकता को मजबूती प्रदान करते हैं।

    एक टिप्पणी भेजें

    0 टिप्पणियाँ